भारतीय पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने सीरीज जीतने

 के बाद वह ट्रॉफी टीम के सबसे युवा या

नए खिलाड़ी को उठाने का मौका देते थे। धोनी के

बाद इसे विराट कोहली से लेकर रोहित शर्मा

तक हर किसी कप्तान ने आगे बढ़ाया। मगर वेस्टइंडीज 

के खिलाफ टी20 सीरीज जीतने के बाद हार्दिक पांड्या

ने इस प्रथा को तोड़ते हुए ट्रॉफी टीम के किसी

ने इस प्रथा को तोड़ते हुए ट्रॉफी टीम के किसी

सपोर्टिंग स्टाफ को थमा दी। हालांकि अभी तक 

इस सपोर्ट स्टाफ का नाम सामने नहीं आया है।