साईं के जिंदा होने के बाद भी विराट उन्हें अपने 

साथ चव्हाण हाउस नहीं ले जाएंगे, बल्कि हमेशा के लिए 

उनसे मुंह मोड़ लेंगे. विराट को लगेगा कि साईं  जिंदा

होने के बाद भी वह परिवार की आंखों में धूल

झोंकती रही। विराट सई को अपने बेटे विनायक का इलाज कराने

के लिए मना कर देंगे, और अपनी वहा से चले जाएंगे।

 यह देखकर सई का दिल टूट जाएगा और वह सोचेंगे

कि इतने सालों बाद मिलने के बावजूद

विराट ने उनसे एक बार भी बात करने

विराट ने उनसे एक बार भी बात करने की कोशिश नहीं की