अनुपमा अनु और अनुज को समय देना

चाहती है लेकिन बा जबरदस्ती उस पर जिम्मेदारी

डाल देती है। दूसरी ओर अनुपमा अनुज को

बताती है कि शाह परिवार ने अनुज को बरखा,

अंकुश और अन्य के साथ बच्चे के नामकरण

समारोह के लिए बुलाया है। अनुपमा को तोशु के

लिए राखी का व्यवहार अजीब लगता है।

वह अनुज से कहती है कि वह मोर पंख समारोह

के दौरान राखी के व्यवहार को समझ नहीं पाई।