बिहार में बंट गए हैं ग्रीन ऑरेंज और रेड जोन, कहाँ मिलेगी 3 मई के बाद छूट

सेंट्रल डेस्क:  देश भर में लगे लॉकडाउन के खत्म होने बस दो दिन बचे हैं। ऐसे में लॉकडाउन खुलेगा या नहीं इस पर सवाल उठ रहे हैं। देश भर के सभी जिलों को ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन में बांटा गया है। बिहार के भी जिलों को ग्रीन ऑरेंज और रेड जोन में बांटा गया है। देश में भले ही ज्यादा चर्चे महाराष्ट्र और गुजरात के कोरोना मामलों की हो रही हो। वहीँ नई रिपोर्ट में ये बात सामने आयी है की बिहार में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

ग्रीन ऑरेंज और रेड जोन जिले कौन से हैं 

Green ZONE- जहाँ संक्रमण के मामले कम हैं, या फिर नियंत्रण में हैं, उन्हें ग्रीन जोन में रखा है। इस जिलों में थोड़ी शर्तों के साथ lockdown खोलने की परमिशन दी जा सकती है। ये जिले हैं-  मुजफ्फरपुर, पशिचम चंपारण, शेखपुरा, अररिया, जमुई, कटिहार, खगरिया, किशनगंज, सहरसा, समस्तीपुर, शिवहर, सीतामढ़ी और सुपौल।

Orange Zone-  वैसे जिले जहाँ संक्रमण के बढ़ने का खतरा है, उन्हें ऑरेंज जाने में रखा गया है। यहाँ लॉकडाउन से छूट मिलने की संभावना न के बराबर है। ऑरेंज जोन में नालंदा, कैमूर (भभुआ), सिवान,  भागलपुर, अरवल, सारण, नवादा, लखीसराय, बांका, वैशाली, दरभंगा, गोपालगंज, भोजपुर, बेगूसराय, औरंगाबाद, मधुबनी, पूर्वी चंपारण, जहानाबाद, मधेपुरा और पूर्णिया जिले हैं।

RED Zone-  रेड जोन में रखे गए जिलों में संक्रमण का खतरा ज्यादा है इसलिए इसमें रियायत के आसार कम हैं। इस जोन में रह रहे लोगों को ज्यादा एहतियात बरतने की जरूरत होगी। इस जोन में- राजधानी पटना, मुंगेर, रोहतास, बक्सर और गया शामिल हैं। इन जिलों में संक्रमण के मामले भी ज्यादा हैं।

कोरोना वायरस: 3 मई के बाद भी बढ़ेगा Lockdown या नहीं,

बिहार में कोरोना का अपडेट

Advertisement

बिहार में कोरोना मामलों की संख्या में पिछले कुछ दिनों में तेजी देखी गई है। संक्रमितों की संख्या हर रोज बढ़ रही है। अबतक बिहार मे 450 संक्रमित मिले हैं। गुरुवार को कोरोना वायरस के 21 नए मरीज मिले हैं। 21 नए पॉजिटिव केस में रोहतास से 11, मुंगेर के जमालपुर में 3, सीतामढ़ी से 4, सारण से 2, वहीँ पटना में 2 कोरोना मरीजों की पहचान की गई है। अबतक राज्य में 84 मरीज स्‍वस्‍थ होकर घर लौट चुके हैं, वहीं अभी तक दो मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

साथ ही आप हमें ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो भी कर सकते हैं। खबरों के लिए बने रहिये KHABRI के साथ।